व्यक्ति अंदर से जैसा होता है, अमीरी में वही रूप बाहर आता है | As a person is inside, the same form comes out in richness