त्याग दी सब ख्वाहिशें, कुछ अलग करने के लिए, ‘राम’ ने खोया बहुत कुछ, ‘श्री राम’ बनने के लिए।

त्याग दी सब ख्वाहिशें, कुछ अलग करने के लिए,
‘राम’ ने खोया बहुत कुछ, ‘श्री राम’ बनने के लिए।