Sawan Ki Shayari Wallpaper

प्रेम के सावन में ये जो मोहब्बत की पत्तियां उगी है
बिरहा के पतझड़ आने पर सुना है जला दी जाती है