कभी ठंड में ठिठुर कर देख लेना, कभी तपती धूप में जलकर देख लेना, कैसे होती है है हिफाजत मुल्क की, कभी सरहद पर चल के देख लेना..

कभी ठंड में ठिठुर कर देख लेना, कभी तपती धूप में जलकर देख लेना,
कैसे होती है है हिफाजत मुल्क की, कभी सरहद पर चल के देख लेना..