काँच के पीछे चाँद भी था और काँच के ऊपर काई भी ”तीनों थे हम वो भी थे और मैं भी था तन्हाई भी

काँच के पीछे चाँद भी था और काँच के ऊपर काई भी
”तीनों थे हम वो भी थे और मैं भी था तन्हाई भी