आंखों में ही रहे हो दिल से नहीं गए हो, हैरान हूं ये शोख़ी, आई तुम्हें कहां से।

आंखों में ही रहे हो दिल से नहीं गए हो,
हैरान हूं ये शोख़ी, आई तुम्हें कहां से।